Samsung Workers: दुनिया की दिग्गज स्मार्टफोन और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस निर्माता कंपनी सैमसंग में बड़ी हड़ताल शुरू हुई है. दक्षिण कोरिया में लगभग 31000 कर्मचारी एक साथ बुधवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए. सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स (Samsung Electronics) की सबसे बड़ी यूनियन ने इस हड़ताल का आह्वान किया है. इससे पहले कर्मचारियों ने तीन दिन की आंशिक हड़ताल का आह्वान किया था. मांगे पूरी न होने से उन्होंने लंबी स्ट्राइक पर जाने का फैसला लिया है. सैमसंग की इस हड़ताल से पूरी दुनिया में बुरा असर पड़ सकता है. 

कंपनी की सबसे बड़ी यूनियन NSEU के सदस्य गए हड़ताल पर 

सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, द नेशनल सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स यूनियन (NSEU) ने बताया कि इस हफ्ते की शुरुआत में सेमीकंडक्टर डिवीजन में काम करने वाले लगभग 6000 कर्मचारियों ने हड़ताल शुरू की थी. अब इसमें लगभग 31 हजार लोग शामिल हो चुके हैं. सैमसंग के कुल कर्मचारियों का एक चौथाई हिस्सा एनएसईयू के सदस्य हैं. इन सभी ने बेहतर सैलरी और काम की परिस्थितियां ठीक करने की मांग की है. यूनियन ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सैमसंग ने जल्द वार्ता शुरू नहीं की तो उन्हें बहुत पछताना पड़ेगा.

अच्छी वित्तीय स्थिति के बावजूद स्टाफ को नहीं हो रहा लाभ 

यूनियन के एक लीडर सून वूमोक ने कहा कि स्ट्राइक के चलते बंद हुई फैक्ट्रियों को दोबारा शुरू करने में बहुत समय जाया होगा. सैमसंग ने दावा किया था कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में बूम के चलते दूसरी तिमाही में उनके ऑपरेशंस सालाना आधार पर लगभग 1450 फीसदी बढ़ जाएंगे. साथ ही साल 2024 की पहली तिमाही में कंपनी का मुनाफा 10 गुना बढ़ा था. हालांकि, वर्कर्स का आरोप है कि इतनी अच्छी वित्तीय स्थिति का असर उनकी सैलरी पर नहीं दिखाई दे रहा. 

कर्मचारियों से वार्ता करने को राजी सैमसंग 

यूनियन के नेताओं ने कहा कि कंपनी अपने कर्मचारियों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं कर रही है. पिछले 10 साल से वह हमें एक ही कहानी सुना रहे हैं कि फिलहाल संकट की स्थिति बनी हुई है. इसके अलावा कंपनी ने बड़े पैमाने पर परफॉरमेंस बोनस में भी कटौती की है. उधर, सैमसंग ने कहा कि वह कर्मचारियों से वार्ता करने को राजी है. हम सुनिश्चित करेंगे कि इस हड़ताल का हमारे प्रोडक्शन पर कोई असर न पड़े. 

ये भी पढ़ें 

Air India: इतने कर्मचारियों पर गिरेगी एयर इंडिया और विस्तारा के मर्जर की गाज



Source link